सोनिया से मुलाकात के बाद लालू-नीतीश गदगद, 2024 को लेकर कही ये बात

नई दिल्ली। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक, आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी से उनके दस जनपथ स्थित आवास पर मुलाकात की।

इस मुलाकात के बाद नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव ने एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। उन्होंने पत्रकारों के सवालो के जबाव देते हुए कहा कि हमने सोनिया जी से बात की,हमारा विचार है देश में अनेक दलों को एकजुट करनाऔर मिलकर प्रगति के लिए काम करना। उनके पार्टी अध्यक्ष का चुनाव है इसके बाद आगे की बात होगी।

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बाहर निकलने पर लालू प्रसाद यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम दोनों (मैं और नीतीश) साथ में मिले हैं… भाजपा को हटाना है और देश को बचाना है इसके लिए सबको साथ में इकट्ठा होना है। सोनिया गांधी ने कहा है कि उनके अध्यक्ष के चुनाव के बाद वे हम सब से मिलकर एक साथ बात करेंगे।

उन्होंने कहा कि बिहार में जिस रह से बीजेपी को विदा किया गया है. उससे देश में काफी अच्छा मैसेज गया है। देश में तानाशाही की सरकार है। विपक्ष के नेताओं को जेल में बंद किया जा रहा है। मगर हम डरने वाले नहीं है। देश में किसी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।

ये भी पढ़ें:  वीडियो: जेल में बंद दिल्ली सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन का जेल में मसाज करवाते हुए CCTV वीडियो सामने आया

सुशील मोदी ने विपक्ष की एकता पर उठाये सवाल:

वहीँ कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बैठक पर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि क्या नीतीश कुमार कांग्रेस और केजरीवाल को एक साथ बैठा सकते हैं? क्या नीतीश कुमार ओपी चौटाला और कांग्रेस को एक साथ कर सकते हैं ?

उन्होंने कहा कि क्या केरल के अंदर CPM और कांग्रेस को एक साथ बैठा सकते हैं? केरल में कांग्रेस कह रही है CPM को कि वे केरल में BJP की A टीम है। अलग-अलग दलों का अपना अलग-अलग स्वार्थ है हर राज्य की राजनीतिक परिस्थितियां अलग हैं.. ये चाह कर भी सभी दलों को एक नहीं कर सकते हैं ?

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें