क्या कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं वरुण गांधी? सोशल मीडिया पर दावे और प्रयागराज में पोस्टर

नई दिल्ली। किसान आंदोलन के समर्थन में और लखीमपुर खीरी कांड के विरोध में बीजेपी सांसद वरुण गांधी द्वारा दिए गए बयानों के बाद सोशल मीडिया पर वरुण गांधी के जल्द कांग्रेस में शामिल होने के दावे वाले पोस्ट वायरल हो रहे हैं।

इस बीच प्रयागराज में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने वरुण गांधी के कांग्रेस में शामिल होने पर स्वागत वाले पोस्टर भी लगा दिए हैं। प्रयागराज में उत्साही कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा लगाए गए पोस्टर में लिखा है कि दुःख भरे दिन बीते रे भईया, अब सुख आयो रे। इतना ही नहीं इस पोस्टर में सोनिया गंधी के साथ वरुण गांधी की तस्वीर लगाई गई है। वहीं पोस्टर जारी करने वाले स्थानीय नेता इरशाद उल्ला और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता बाबा अभय अवस्थी की भी तस्वीर है।

वरुण गांधी पिछले कुछ समय से पार्टी लाइन से हटकर बयान दे रहे हैं। वे तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन को सही ठहरा चुके हैं। इतना ही नहीं वरुण गांधी ने हाल ही में लखीमपुर कांड की निंदा करते हुए वह वीडियो भी शेयर किया जिसमे एसयूवी से किसानो को रौंदते हुए दिखाया गया है।

ये भी पढ़ें:  Rajasthan Politics : अशोक गहलोत अपने पद से आज इस्तीफा दे सकते है , जानिए कौन होगा अगला सीएम?

वरुण गांधी ने हाल ही में ट्वीट कर अपनी ही पार्टी के नेताओं पर नाम लिए बिना निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि लखीमपुर खीरी कांड के बाद इसे हिन्दू बनाम सिख बनाये जाने की कोशिश की जा रही है।

वरुण गांधी को हाल ही में बीजेपी द्वारा जारी की गई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की लिस्ट से बाहर रखा गया है। वरुण गांधी ही नहीं उनकी मां मेनका गांधी को भी बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटा दिया गया है।

इस बीच सोशल मीडिया पर वरुण गांधी के कांग्रेस में शामिल होने के दावे के साथ पोस्ट वायरल होने लगे। सोशल मीडिया पर आये पोस्ट में दावा किया गया कि वरुण गांधी का बीजेपी से मोह भंग हो चुका है और वे कभी भी कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

हालांकि एक न्यूज़ चैनल के मुताबिक, बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने एक न्यूज़ चैनल को फोन पर बताया कि उनके कांग्रेस में शामिल होने की संभावनाओं वाले पोस्ट सिर्फ एक अफवाह है। हालांकि सार्वजनिक तौर पर वरुण गांधी अफवाहों का खंडन करने मीडिया के समक्ष नहीं आये हैं।

वहीँ बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से नाम हटाए जाने को लेकर हाल ही में बीजेपी सांसद मेनका गांधी ने कहा था कि उन्हें इस पर कोई एतराज नहीं है। उन्होंने कहा कि वे पिछले 25 वर्षो से बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य रही हैं और अब नए लोगों को भी मौका मिलना चाहिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें