गहराई से: राहुल ने क्यों कहा, “जो बीजेपी से नहीं डरेगा, वही कांग्रेस में रहेगा”

नई दिल्ली। कांग्रेस के सोशल मीडिया कार्यकर्ताओं की वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर साफ़ कर दिया कि वे संघ और बीजेपी के खिलाफ आरपार की लड़ाई लड़ना चाहते हैं।

राहुल गांधी ने कहा कि ‘बहुत से निडर लोग हैं, जो कांग्रेस में नहीं हैं। उन्हें अंदर लाया जाना चाहिए और (भाजपा) से डरने वाले कांग्रेसियों को बाहर का दरवाजा दिखाया जाना चाहिए।’

इतना ही नहीं राहुल गांधी ने कहा कि ‘हमें उन लोगों की जरूरत नहीं है जो आरएसएस की विचारधारा में विश्वास करते हैं। हमें निडर लोगों की जरूरत है।’ राहुल गांधी ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में गए नेताओं का नाम लिए बिना कहा कि जो डरने वाले लोग हैं वे बीजेपी में जायेंगे।

कांग्रेस नेता ने कहा कि लोगों ने अब बीजेपी द्वारा फैलाये जा रहे फेक न्यूज पर विश्वास करना बंद कर दिया है। इसलिए अब किसी को बीजेपी से डरने की जरूरत नहीं है। राहुल गांधी ने साफतौर पर कहा कि ‘जो डर गए वो बीजेपी में चले जाएंगे, जो नहीं डरेगा वो कांग्रेस में रहेगा।’

ये भी पढ़ें:  सोनिया से मुलाकात के बाद लालू-नीतीश गदगद, 2024 को लेकर कही ये बात

राहुल गांधी का बयान बीजेपी की राजनीति और उन नेताओं पर केंद्रित है जो पिछले कुछ वर्षो में कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में जा चुके हैं। हालांकि राहुल गांधी ने किसी नेता का नाम नहीं लिया लेकिन राहुल का इशारा उन नेताओं की तरफ है जो सीबीआई, ईडी, इनकम टैक्स और पुलिस के मुकदमो के भय से बीजेपी के सामने घुटने तक चुके हैं।

वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव से अब तक करीब एक दर्जन से अधिक वे कद्दावर चेहरे कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं, जिन्हे कांग्रेस में रहते हुए बहुत कुछ मिला था। उत्तर प्रदेश में जगदंबिकापाल, रीता बहुगुणा जोशी और जितिन प्रसाद, मध्य प्रदेश में कांग्रेस के करीब दो दर्जन विधायक और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, महाराष्ट्र में राधाकृष्ण विखे पाटिल और नारायण राणे, असम में हेमंत बिस्वा सरमा और हरियाणा में चौधरी बीरेंद्र सिंह जैसे नेता कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। हालांकि इस दौरान कीर्ति आज़ाद, शत्रुघ्न सिन्हा, नवजोत सिंह सिद्धू सहित कुछ बीजेपी नेताओं की कांग्रेस में एंट्री भी हुई है।

राहुल गांधी ने अपने बयान से यह साफ़ कर दिया है कि वे संघ और बीजेपी पर अपने हमले जारी रखेंगे और कांग्रेस की विचारधारा से कोई समझौता नहीं करेंगे। वहीँ राहुल गांधी के बयान को बीजेपी और संघ के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की एकजुटता से जोड़कर भी देखा जा रहा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें