नफरत परोसने वालो के मूंह पर तमाचा: गुरुग्राम में गुरुद्वारों ने खोले नमाज़ के लिए दरवाज़े

गुरुग्राम। यहां शुक्रवार के दिन खुले में नमाज़ को लेकर पिछले सप्ताह हुए विवाद के बाद अब सिख समुदाय ने दरियादिली दिखाई है। गुरुग्राम के कई गुरुद्वारों ने मुसलमानो से अपील की है कि वे जुमे की नमाज़ गुरुद्वारों के अंदर आयोजित करें।

गौरतलब है कि पुछले शुक्रवार को जुमे की नमाज़ खुले में आयोजित करने के लिए प्रशासन की अनुमति होने के बावजूद कई स्थानों पर हिन्दू संगठनों के साथ कुछ स्थानीय लोगों ने विरोध जताया था।

कई जगह नमाज़ आयोजित की जाने वाले मैदानों में पानी भर दिया गया, उपले डाल दिए गए। यहां तक नमाज़ के आयोजन से पहले हिन्दू संगठनों से जुड़े लोगों ने आयोजन की जगह पर कब्ज़ा जमा लिया। कई जगह हिन्दू संगठनों से जुड़े लोगों ने नारेबाजी कर नमाज़ में अड़चने पैदा कीं।

प्रशासन की अनुमति के बावजूद हिन्दू संगठनों ने कई जगह नमाज़ का आयोजन नहीं होने दिया। इससे कई जगह मुसलमानो को परेशानियां उठानी पड़ीं। दरअसल जुमे की नमाज़ में नामजियों की तादाद आम नमाज़ो से कई गुना अधिक होती है। वहीँ गुरुग्राम की मस्जिदों में सीमित तादाद में ही लोग नमाज़ अदा कर सकते हैं। ऐसे में कई जगह खुले मैदान में नमाज़ का आयोजन होता रहा है।

पिछले शुक्रवार को जुमे की नमाज़ में हिन्दू संगठनों द्वारा पैदा की गई अड़चनों को देखते हुए अब गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटियों ने आगामी शुक्रवार को नमाज़ के लिए गुरूद्वारे खोलने का एलान किया है।

ये भी पढ़ें:  बांग्लादेश के खिलाफ एक दिवसीय सीरीज में नहीं खेल पाएंगे मोहम्मद शमी

इतना ही नहीं गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटियों ने एलान किया है कि जुमे की नमाज़ को गुरुद्वारों में आयोजित कराये जाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाये जायेंगे और शांतिपूर्ण तरीके से नमाज़ के आयोजन को सुनिश्चित किया जायेगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें