गुलाम नबी आजाद के समर्थन में अब 64 नेताओं ने छोड़ी पार्टी।

नई दिल्ली: गुलाम नबी आजाद ने हाल ही में कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उसके बाद गुलाम नबी आजाद ने यह आरोप लगाया कि पार्टी में उनके सुझाव को कोई मान्यता नहीं दी जा रही है इसलिए उन्होंने पार्टी छोड़ दी लेकिन इसके बाद कांग्रेस को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं।

आपको बता दें कि गुलाम नबी आजाद के पार्टी छोड़ने के बाद जम्मू कश्मीर के 64 नेताओं ने सामूहिक इस्तीफा दिया है यह एक अपने आप में बहुत बड़ी खबर है। गुलाम नबी आजाद के इस्तीफे के बाद जम्मू कश्मीर में कांग्रेस को झटके पर झटके लग रहे हैं। और आज एक बार फिर कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है जिसके चलते 64 नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है।

इससे पहले भी कई नेताओं ने कांग्रेस को अलविदा बोल दिया है जिससे पार्टी का मनोबल गिरता नजर आ रहा है। इस्तीफा देने वालों में पूर्व उप मुख्यमंत्री तारा चंद और कई मंत्री तथा कार्यकर्ता शामिल है। ताराचंद ने News24 के चैनल पर यह है बताया की पार्टी के अंदर जो हमारी अहमियत थी वह अब नही रही तथा पार्टी दिन पर दिन जम्मू कश्मीर में ही नहीं बल्कि पूरे हिंदुस्तान में कमजोर होती जा रही है। उन्होंने कहा कि हमने जो पार्टी को इस्तीफा दिया है वह जम्मू कश्मीर की जनता के हित में दिया है।

ये भी पढ़ें:  हरियाणा पंचायत चुनाव: जनता ने बीजेपी और आप को बताई हैसियत, कांग्रेस का दबदबा

इसके बाद उन्होंने अपनी खुद नई पार्टी बनाने की बात कही है जिससे लोगों की समस्याओं का हल निकल सके। News24 के रिपोर्टर ने एक और पूर्व मंत्री से बात करते हुए पूछा कि अब वह क्या करेंगे इस पर पूर्व मंत्री ने बताया कि इस पर विचार किया जाएगा गुलाम नबी आजाद अगर नई पार्टी बनाते हैं तो हम सब मिलकर उसे आगे बढ़ाएंगे। अभी तक इस्तीफा देने वालों में किसी भी कार्यकर्ता या पूर्व मंत्री ने यह नहीं साफ किया कि वह किस पार्टी में जाएंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें