उल्टे पांव भागे बीजेपी के नेता, जानिए क्या है पूरा मामला?

नई दिल्ली: बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया पर एक शेर तो फिट बैठता है “बड़े बेआबरू होकर तेरे कूचे से हम निकले” जी हां आपको बता दें कि बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया ने 30 अगस्त को आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज को एक खुली चुनौती दी। गौरव भाटिया कहते हैं कि आपने अपने मेनिफेस्टो में दिल्ली के जिन 500 स्कूलों का जिक्र किया है। मैं उन 500 स्कूलों को देखना चाहता हूं।

उनका इतना कहना था कि सौरव भारद्वाज ने उनकी इस चुनौती को कुबूल करते हुए कहा कि बेशक आप आ जाइए कल 11:00 बजे पंपोष एनक्लेव में और फिर इसके बाद हम अपना 500 स्कूलों का विजिट शुरू करेंगे। इसके बाद उन्होंने एक स्कूल के भी दर्शन नहीं किए क्योंकि जैसे ही वह एक स्कूल में पहुंचे। उनको दिल्ली की जनता के सामने शर्मिंदा होना पड़ा और वहां से उल्टे पांव भागते हुए दिखाई पड़े। हालांकि चुनौती तो इस बात की थी की दिल्ली के 500 स्कूल के दर्शन किए जाएंगे लेकिन उनका यह दांव उन पर ही उल्टा पड़ गया।

गौरव भाटिया का पक्ष

गौरव भाटिया ने अपना पक्ष रखते हुए अपने टि्वटर हैंडल से एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने कहा,

“जैसा वादा किया था कि 500 नए स्कूलों की सूची दी जाएगी उस सूची को लेने कोटिल्लिय विद्यालय गया लेकिन बार-बार सूची मांगने पर भी सूची नहीं दी गई। पुराने बने स्कूलों को अपना बताया फिर झूठ पकड़ा गया। अब कट्टर बेईमान अरविंद केजरीवाल का शिक्षा मॉडल आप खुद ही देख लीजिए।”

सौरव भारद्वाज का पक्ष, जाने क्या कहा ?

ये भी पढ़ें:  कांग्रेस अध्यक्ष खरगे का दावा: गुजरात में पूरे बहुमत के साथ आ रही कांग्रेस की सरकार

आम आदमी के नेता सौरव भारद्वाज ने कहा कि,

सौरव भाटिया कहते हैं आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में कोई स्कूल नहीं बनाएं जबकि आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में नए स्कूल बनाए और स्कूल व्यवस्था को व्यवस्थित किया है। इन नए स्कूलों को आप खुद अपनी आंखों से भी देख सकते हैं। उन्होंने कई स्कूलों का मीडिया पर आकर हवाला देते हुए उनकी कंस्ट्रक्शन होते हुए भी दिखाया। सौरभ भारद्वाज का कहना है कि वह स्कूल में आने वाले थे लेकिन वह स्कूल के अंदर डर की वजह से नहीं आए क्योंकि स्कूल के अंदर बच्चों के माता-पिता मौजूद थे।

इसी वजह से कि उनकी कहीं बेइज्जती ना हो जाए वह स्कूल के बाहर से ही अपनी गाड़ी में बैठ कर वापस चले गए। जबकि सौरव भाटिया ने वादा किया था कि 500 स्कूलों के दर्शन किए जाएंगे। लेकिन गौरव भाटिया वापस भाग पड़े। बता दें कि गौरव भाटिया ,कपिल मिश्रा और शहजाद पुणे वाले की तरह एक अवसरवादी नेता हैं। जो अब से पहले दूसरी पार्टियों में हुआ करते थे और बीजेपी वालों को खूब गालियां दिया करते थे।

केजरीवाल ने किया ये बड़ा ऐलान

आज ही के दिन आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने एक बहुत बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने अपने ऐलान में कहा है कि दिल्ली में हम एक “वर्चुअल स्कूल” की स्थापना कर रहे हैं। यह वर्चुअल स्कूल देश में पहला ऐसा स्कूल होगा। जिसमें दिल्ली ही नहीं बल्कि पूरे देश के बच्चे ऑनलाइन क्लास ले सकते हैं और अगर किसी की क्लास मिस हो जाएं तो उन रिकॉर्डेड क्लासो से आप अपनी पढ़ाई को पूरा कर सकते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें