आज ट्रेक्टर रैली करके सरकार के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन करेंगे किसान

नई दिल्ली। तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी के लिए कानून बनाये जाने की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन के 7 महीने पूरे होने पर शनिवार को किसान ट्रैक्टर रैली आयोजित कर सरकार के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन करेंगे।

ट्रेक्टर रैली के आयोजन को लेकर किसानो ने शुक्रवार को रिहर्सल भी की। इस दौरान बड़ी तादाद में ट्रेक्टर मौजूद थे। गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैक्टर रैली की रिहर्सल पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि रिहर्सल इसलिए हो रही है कि 26 तारीख नजदीक है। किसान 26 तारीख को कभी नहीं भूलेगा। हर महीने 26 तारीख आएगी, किसान ट्रैक्टरों की रिहर्सल करेगा। ट्रैक्टर दिल्ली का रास्ता न भूल जाएं इसलिए इनकी रिहर्सल करनी पड़ती है।

उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि सरकार बात करेगी। नहीं बातचीत करेगी तो अगला कदम उठाएंगे। ये आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक भारत सरकार कानून वापस नहीं लेगी और MSP पर कानून नहीं बनाएगी।

वहीँ कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तौमर ने किसानो से अपना आंदोलन समाप्त करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि किसान यूनियनों को आपना आंदोलन ख़त्म करना चाहिए। देश का बहुत बड़ा हिस्सा इन क़ानूनों के समर्थन में खड़ा है। किसान यूनियनों को अगर कृषि क़ानून के किसी भी प्रावधान से कोई भी आपत्ति है तो भारत सरकार उनसे उसपर बातचीत करने के लिए तैयार है।

ये भी पढ़ें:  2024 में देश को बीजेपी मुक्त करने का केंद्र बनेगा बिहार: जनता दल यूनाइटेड

इससे पहले गुरुवार को संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने कहा कि पिछले साल लागू किए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ उनके आंदोलन के 26 जून को सात महीने पूरे होने पर उत्तर प्रदेश के किसानों सहित बड़ी संख्या में कृषकों के दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शनकारियों के बीच शामिल होने की उम्मीद है। एसकेएम ने कहा गया है कि सिंघू, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर किसान 26 जून की तैयारी कर रहे हैं और वे इसे ‘कृषि बचाओ, लोकतंत्र बचाओ दिवस’ के रूप में मनाएंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें