नवजोत सिद्धू के नेतृत्व में 25 लोगों के प्रतिनिधिमंडल को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति मिली

सहारनपुर। पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और उनके सहयोगियों को आज सुबह सहारनपुर बॉर्डर पर उस समय यूपी पुलिस ने रोक लिया जब वे लखीमपुर खीरी जा रहे थे। सिद्धू के साथ पंजाब सरकार के कुछ मंत्री व कांग्रेस विधायक मौजूद थे।

सिद्धू के काफिले को सहारनपुर पुलिस ने बॉर्डर पर ही रोक लिया और उन्हें हिरासत में ले लिया गया। काफी देर तक पुलिस के आला अधिकारीयों के साथ चली बातचीत के बाद आखिर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू और उनके साथियों को लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति दे दी गई लेकिन इसके लिए पुलिस ने शर्त भी लगाई है।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को अपने 25 सहयोगियों को पुलिस की निगरानी में लखीमपुर खीरी जाने की अनुमति दी गई है। सिद्धू और उनके साथ आये कांग्रेस नेताओं का 25 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल आज रात ही लखीमपुर खीरी जाएगा।

जानकारी के मुताबिक नवजोत सिंह सिद्धू समेत पंजाब के कैबिनेट मंत्री, विधायक और नेताओं-सांसदों का कुल 25 नेताओं का डेलिगेशन लखीमपुर खीरी जा कर पीड़ित किसान परिवारों से मुलाकात करेगा. बताया जा रहा है कि ये डेलिगेशन आज यानी गुरुवार रात ही लखीमपुर खीरी के लिए रवाना होगा.

ये भी पढ़ें:  अंकिता भंडारी हत्याकांड : अंकिता के परिजनों ने अंतिम संस्कार से किया इनकार, कहा?

इस दौरान उत्तर प्रदेश पुलिस की गाड़ियां भी इस डेलिगेशन को एस्कॉर्ड करेंगी। सिद्धू से पहले कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी की वरिष्ठ नेता प्रियंका गांधी भी पीड़ित किसानों से मिलने लखीमपुर खीरी पहुंची थीं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें