दिल्ली: लॉकडाउन के एलान के बाद आनंद बिहार पर जुटी भीड़, आज हुआ 90 शवों का अंतिम संस्कार

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर दिल्ली में 6 दिनों के फुल लॉकडाउन के एलान के बाद दिल्ली में रह रहे अन्य राज्यों के लोग अपने घरो के लिए निकल पड़े हैं।

दिल्ली यूपी की सीमा पर आनंद बिहार बस स्टैंड पर दोपहर से ही भीड़ जुटना शुरू हो गई थी और खबर लिखे जाने तक आनंद बिहार पर लोगों का आना जारी है। आनंद बिहार पर जुटी भीड़ में सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियाँ उड़ रही हैं।

इतना ही नहीं यूपी जाने वाली बसों की छतो पर बैठकर भी लोग यात्रा कर रहे हैं। आनंद बिहार से यूपी जाने वाली सभी बसें ठसाठस भरकर जा रही हैं। हालांकि पुलिस लगातार व्यवस्था बनाने की कोशिश कर रही है लेकिन लोगों की तादाद के आगे पुलिस भी बेबस नज़र आ रही है।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमित मामलो में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने सोमवार को कोविड-19 मामलों में तेजी के बीच आज रात से अगले सोमवार तक दिल्ली में कर्फ्यू की घोषणा की है।

दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान 25 हजार से अधिक नये मामले सामने आये तथा 161 और मरीजों की मौत हुई जबकि सक्रिय मामले बढ़कर 74,941 के पार पहुंच गये है। इस अवधि में नए मामले सामने आने से दिल्ली में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 8,53,460 और मतृकों की संख्या 12,121 पहुंच गई है। शनिवार को पॉजिटिव दर 24.56 प्रतिशत दर्ज की गई थी बढ़कर रविवार को 29.74 पहुंच गई है।

ये भी पढ़ें:  कल जारी होगी कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव के लिए अधिसूचना, इन दिग्गज नेताओं के बीच मुकाबले के आसार

दिल्ली के निगमबोध घाट में आज हुआ 90 शवों का संस्कार:

इस बीच कोरोना से हो रही मौतों के आंकड़े डराने वाले हैं। आज दिल्ली के निगमबोध घाट पर 90 शवों के अंतिम संस्कार की खबर है। इससे पहले यानी कल निगमबोध घाट में सबसे ज्यादा एक दिन में शवो को संख्या 75 थी। दिल्ली से सटे गौतम बुद्ध नगर जिला प्रशासन द्वारा नाइट कर्फ्यू (रात 8 से सुबह 7 बजे) को 30 अप्रैल तक बढ़ाया गया है।

वहीँ दिल्ली डिवीजन में सभी स्टेशनों पर रुकने के लिए प्लेटफ़ॉर्म टिकट की बिक्री तुरंत प्रभाव से बंद कर दी गई है. ऐसा स्टेशनों पर लोगों की भीड़ से बचाने के लिए किया गया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें