ब्लैक फंगस के इलाज को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज ने लिया बड़ा फैसला

उज्जैन(विशाल जैन)। बृहस्पति भवन में कोरोना की समीक्षा करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ब्लैक फंगस के इलाज को लेकर बड़ा फैसला लिया। उन्होंने बैठक के दौरान कहा कि ब्लैक फंगस का इलाज प्रदेश में निशुल्क किया जाएगा।

गौरतलब है कि प्रदेश में एक और कोरोना संक्रमण कादर कम होता जा रहा है वही दूसरी ओर ब्लैक फंगस के मरीज बढ़ रहे हैं। ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण से ग्रसित रहे और बाद में ठीक हो चुके मरीजों को ब्लैक फंगस का खतरा अधिक रहता है।

इसी के मद्देनजर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना समीक्षा के दौरान अधिकारियों की उपस्थिति में कहा कि ब्लैक फंगस के उपचार में प्रदेश सरकार किसी प्रकार की कमी नहीं आने देगी और इसके उपचार के दौरान जो खर्च होगा वह भी प्रदेश सरकार ही वहन करेगी।

इधर भोपाल में भी आज ब्लैक फंगस संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री प्रभु लाल चौधरी विश्वास सारंग ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) प्रदेश में तेजी से पांव पसार रही है।

ये भी पढ़ें:  कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए 30 सितंबर को नामांकन करेंगे शशि थरूर

उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस बड़ी चुनौती है। इससे निपटने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा देश में सबसे पहले हमने म्यूकर यूनिट का प्रदेश के 5 मेडिकल कॉलेज में स्थापित की है। उन्होंने बताया कि मंगलवार तक प्रदेश में ब्लैक फंगस के 573 मामले आए हैं। अगले 15 दिनों तक प्रदेश में नेजल एंडोस्कोपी का अभियान चलाया जाएगा।

बुधवार से अभियान प्रदेशभर के मेडिकल कॉलेजों मे शुरू भी हो गया है। इसके तहत ब्लैक फंगस के लक्षण वाले मरीजों की जांच की जाएगी। इसमें निजी व सरकारी डॉक्टर साथ मिलकर काम करेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें