कांग्रेस की हल्ला बोल रैली में राहुल गांधी के भाषण की 10 अहम बातें

नई दिल्ली। रविवार को दिल्ली के रामलीला मैदान में मंहगाई, बेरोज़गारी और आवश्यक वस्तुओं पर जीएसटी लगाए जाने के खिलाफ आयोजित कांग्रेस की हल्लाबोल रैली में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जोशीला भाषण दिया। उन्होंने न सिर्फ पीएम नरेंद्र मोदी, केंद्र सरकार बल्कि आरएसएस को भी निशाने पर लिया। राहुल गांधी ने अंततः यहां तक कहा कि ‘‘अगर आज हम नहीं खड़े हुए तो देश नहीं बचेगा।’’

1- राहुल गांधी ने अपने भाषण में लोगों को देश में नफरत के माहौल के खिलाफ आगाह किया। राहुल गांधी ने कहा, ‘‘जबसे भाजपा की सरकार आई है तबसे देश में नफरत और क्रोध बढ़ता जा रहा है।’’ राहुल गांधी ने कहा कि ‘‘जिसको डर होता है, उसी के दिल में नफरत पैदा होती है। जिसको डर नहीं होता है उसके दिल में नफरत पैदा नहीं होती है।’’

2- पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि ‘‘देश में भविष्य का डर, महंगाई का डर और बेरोजगारी का डर बढ़ता जा रहा है। इसके कारण नफरत बढ़ती जा रही है। नफरत से लोग बंटते हैं और देश कमजोर होता है।” राहुल गांधी ने कहा कि “भाजपा और आरएसएस के नेता देश को बांटते हैं तथा जानबूझकर देश में भय और नफरत पैदा करते हैं।’’

3- अपने जोशीले भाषण में राहुल गांधी ने देश में बढ़ती बेरोज़गारी और मंहगाई के लिए सीधे तौर पर पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी नीतियों को ज़िम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि “देश में फैलाये जा रहे डर और नफरत का फायदा किसको मिल रहा है। क्या गरीब आदमी को फायदा मिल रहा है? पूरा का पूरा फायदा हिंदुस्तान के दो उद्योगपति उठा रहे हैं। बाकी उद्योगपतियों से पूछ लो, वो भी बताएंगे कि सिर्फ दो व्यक्तियों का फायदा हुआ है। सबकुछ इन्हीं दो व्यक्तियों के हाथों में जा रहा है।”

ये भी पढ़ें:  अंध भक्ति बर्दाश्त नहीं: ट्विटर ने भारत के 44 हज़ार यूजर एकाउंट किये बैन

4- पेट्रोल डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि ‘‘मोदी जी कहते हैं कि 70 साल में कांग्रेस ने क्या किया तो हम बताना चाहते हैं कि कांग्रेस ने महंगाई इतनी कभी नहीं बढ़ाई।’’उन्होंने कहा कि ‘‘नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री हैं, लेकिन दो उद्योगपतियों के समर्थन के बिना वह प्रधानमंत्री नहीं हो सकते, मीडिया के समर्थन के बिना वह प्रधानमंत्री नहीं हो सकते…सभी संवैधानिक संस्थाओं पर दबाव है, यह सरकार उन पर आक्रमण कर रही है।’’

5- पीएम मोदी पर अपना हमला जारी रखते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ‘‘नरेंद्र मोदी जी प्रधानमंत्री हैं, लेकिन दो उद्योगपतियों के समर्थन के बिना वह प्रधानमंत्री नहीं हो सकते, मीडिया के समर्थन के बिना वह प्रधानमंत्री नहीं हो सकते…सभी संवैधानिक संस्थाओं पर दबाव है, यह सरकार उन पर आक्रमण कर रही है।’’

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘मीडिया पर दो उद्योगपतियों का नियंत्रण है। विपक्ष के पास कोई रास्ता नहीं है, उसे जनता के बीच जाना होगा…भारत जोड़ो यात्रा हम इसीलिए आरंभ कर रहे हैं।’’

6- नेशनल हेराल्ड मामले में प्रवर्तक निदेशालय द्वारा पूछताछ के लिए बुलाये जाने का हवाला देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि “विपक्ष के नेताओं और कार्यकर्ताओं के खिलाफ ईडी और सीबीआई को लगा दिया जाता है…नरेंद्र मोदी जी को बताना चाहता हूं कि मैं आपकी ईडी से नहीं डरता। आप 55 घंटे पूछताछ करो, 100 घंटे करो, 200 घंटे करो, पांच साल करो, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।’’

ये भी पढ़ें:  राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के प्रवेश से पहले गहलोत ने फिर दिखाए तेवर, पायलट को बताया गद्दार

7- राहुल गांधी ने कहा कि ‘‘नरेंद्र मोदी जी की विचारधारा कहती है कि देश को बांटना है और फायदा कुछ चुनिंदा लोगों को देना है। हमारी विचारधारा कहती है कि यह देश सबका है और फायदा किसानों, मजदूरों और छोटे दुकानदारों को मिलना चाहिए।’’

8- देश में नफरत का माहौल फैलाने का आरोप लगाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि ‘‘मोदी जी नफरत फैला रहे हैं। इससे फायदा भारत को नहीं होगा। इससे फायदा चीन एवं पाकिस्तान को होगा। नफरत से हिंदुस्तान कमजोर होगा। नरेंद्र मोदी जी ने हिंदुस्तान को कमजोर करने का काम किया है।’’

9- पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि “अब विपक्ष के पास जनता के पास जाने और सीधा संवाद करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है, इसीलिए कांग्रेस सात सितंबर से ‘भारत जोड़ो’ यात्रा निकालने जा रही है।”

10- राहुल गांधी ने उधोगपति अडानी का नाम लेते हुए पीएम मोदी पर अपने उधोगपति मित्रो को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने नियमो को अनदेखा कर पने उधोगपति मित्रो को फायदा पहुँचाया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें