बंगाल में इमाम एसोसिएशन के बयान से ओवैसी को झटका

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में इस वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार उतारने का एलान कर चुके आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी को पश्चिम बंगाल इमाम एसोसिएशन ने बड़ा झटका दिया है।

पश्चिम बंगाल इमाम एसोसिएशन ने एक बयान जारी कर कहा है कि चुनाव में मुसलमान धर्म के आधार पर मतदान न करें। इतना ही नहीं इमाम एसोसिएशन ने अपने बयान में एआईएमआईएम पर लोगों को धर्म के आधार पर बांटने का आरोप भी लगाया है।

इमाम एसोसिएशन ने कहा कि एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी का पश्चिम बंगाल से कोई रिश्ता नहीं है, वे सिर्फ यहां चुनाव लड़ना चाहते हैं। इमाम एसोसिएशन ने बयान में कहा कि ओवैसी बंगाली मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व नहीं करते. वह धर्म के आधार पर लोगों को बांटने की कोशिश करते हैं। इसलिए बंगाल में उनका विरोध किया जायेगा।

फुरफुरा शरीफ ने भी किया ओवैसी का विरोध:

अभी हाल ही में पश्चिम बंगाल की चुनावी नब्ज़ टटोलने पहुंचे एआईएमआईएम सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी फुरफुरा शरीफ में के धार्मिक गुरु से मिले थे, उसी फुरफुरा शरीफ के एक सज्जादे पीरजादा त्वाहा सिद्दीकी ने ने भी ओवैसी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

फुरफुरा शरीफ के पीरजादा त्वाहा सिद्दीकी ने ओवैसी पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि ओवैसी ने ऊपर में तो सफेद कपड़े पहन रखे हैं, लेकिन उसने अंदर जो चोला पहन रखा है, उसका रंग गेरुआ है।उन्होंने कहा कि ओवैसी की भारतीय जनता पार्टी के साथ सांठगांठ है। उन्होंने अपने गेरुआ चोला को छिपा रखा है।

ये भी पढ़ें:  पढ़िए: ओवैसी ने क्यों पूछा, "मोदी जी आपको दौलतमंदों से मोहब्बत क्यों हैं"

बुधवार को आरामबाग में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए फुरफुरा शरीफ के पीरजादा त्वाहा सिद्दीकी ने ओवैसी को बीजेपी का एजेंट बताते हुए फुरफुरा शरीफ के एक और सज्जादे पीरजादा अब्बास सिद्दीकी से असदुद्दीन ओवैसी की मुलाकात को लेकर कहा कि ओवैसी बाघ होते, तो चोरी-छिपे फुरफुरा शरीफ जाकर वहां से लौट नहीं जाते।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें