जेलर ने मुस्लिम व्यक्ति की जबरन दाढ़ी कटवाई, मुसलमानो ने जताया विरोध

भोपाल ब्यूरो। मध्य प्रदेश के राजगढ़ में धारा 151 में एक दिन के लिए जेल पहुंचे एक मुस्लिम व्यक्ति ने जेल से रिलीज होने के बाद जेल प्रशासन और जेलर पर गंभीर आरोप लगाए हैं। कलीम खां नामक इस व्यक्ति का आरोप है कि जेल पहुंचने के बाद जेलर ने न सिर्फ जबरन उसकी दाढ़ी कटवा दी बल्कि उसे पाकिस्तानी कहते हुए अभद्रता भी की।

कलीम खां ने जेल से रिहाई मिलने के बाद अपनी आपबीती मुस्लिम समुदाय के लोगों को बताई तो मुस्लिम समुदाय ने इस पर कड़ा एतराज जताया। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इस मामले को जिलाधिकारी के समक्ष उठाया और जेल प्रशासन और जेलर के खिलाफ तत्काल एक्शन की मांग की है।

ज्ञापन में कलीम खां की तरफ से कहा गया है कि जेलर ने जबरन उसकी दाढ़ी कटवा कर न सिर्फ उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत किया है बल्कि उसके धर्म का अपमान भी किया है।

हालांकि कलीम खां के आरोपों पर जेलर ने सफाई दी है और कहा है कि कलीम खां की दाढ़ी जबरन नहीं कटवाई गई बल्कि नियमानुसार जेल में आने वाले नए कैदी की दाढ़ी या तो छोटी कराई जाती है या उसे कटवाया जाता है। जो कुछ भी किया गया वह नियमानुसार ही किया गया है।

ये भी पढ़ें:  कांग्रेस ने अखिलेश सिंह को सौंपी बिहार की कमान

फिलहाल जेल में कलीम खां के साथ हुई घटना को लेकर स्थानीय मुस्लिम समुदाय के लोगों में रोष है। कलीम खां जीरापुर के वार्ड 14 का रहने वाला है। उसे धारा 151 के तहत एक दिन राजगढ़ जेल में रहना पड़ा था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें