पंजाब: कैप्टेन पर जल्द फैसला सुनाएंगी सोनिया गांधी

नई दिल्ली। पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बीच शुरू हुए टकराव को खत्म कराने के लिए पार्टी हाईकमान द्वारा बनाई गई समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है और अब पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी जल्द कोई बड़ा कदम उठा सकती हैं।

पंजाब में अगले वर्ष विधानसभा चुनाव होना है, इसे ध्यान में रखकर पार्टी हर कदम सोच समझकर उठा रही है। कांग्रेस सूत्रों की माने तो कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सार्वजनिक रुप से कैप्टन को सख्त निर्देेश दिए हैं कि सरकार के बाकी बचे 8 महीनों में वह चुनावी वादे पूरे करें।

इससे पहले बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कैप्टेन अमरिंदर सिंह को मुलाकात के लिए समय देने से इंकार कर दिया था। इसके बाद कयास लगाए जाने लगे कि सोनिया गांधी पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से खुश नहीं है और पंजाब के लिए बनाई गई समिति की रिपोर्ट के आधार पर कोई बड़ा फैसला ले सकती हैं।

गौरतलब है कि पंजाब में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी के मामले में आरोपियों को सजा दिलाने और ड्रग्स के सफाए के अहम वादे किये थे। चुनावी वादे पूरे न होने को लेकर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।

ये भी पढ़ें:  सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबियत बिगड़ी, आईसीयू में शिफ्ट

इसके बाद मल्लिकार्जुन खड़गे के नेतृत्व में पंजाब पर पार्टी की तीन सदस्यीय कमेटी ने पंजाब के विधायकों के साथ बैठक कर फीडबैक ली थी। समिति की रिपोर्ट के बाद हाईकमान ने कैप्टेन अमरिंदर सिंह के लिए 2017 के वादों को पूरा करने की समय सीमा निर्धारित की है।

इन वादों में धार्मिक ग्रंथों की बेअदबी मामले में कार्रवाई,ड्रग रैकेट, रेत और परिवहन माफिया पर नकेल,शहरी परिवारों को 200 यूनिट मुफ्त बिजली, “दोषपूर्ण” बिजली खरीद समझौतों को खत्म करना, अनुसूचित जाति के बच्चों के लिए छात्रवृत्ति और दलितों की ऋण माफी प्रमुख हैं।

वहीँ इस मामले में बुधवार को पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़, सांसद मनीष तिवारी, राज्यसभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा, राज्य के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल और पार्टी विधायक इंद्रबीर बुलारिया ने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी।

पार्टी सूत्रों की माने तो राहुल गांधी ने पंजाब कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ से 2017 के विधानसभा चुनाव में किये गए सभी वादे जल्द पूरे किये जाने के निर्देश दिए।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें