20 अगस्त को सोनिया करेंगी विपक्ष के नेताओं से बात, उद्धव- ममता को भी निमंत्रण

नई दिल्ली। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 20 अगस्त को विपक्ष के नेताओं के साथ वर्चुअल बैठक बुलाई है। इस बैठक में शामिल होने के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी निमंत्रण भेजा गया है।

माना जा रहा है कि इस बैठक में पेगासस जासूसी की जांच के लिए संसदीय समिति बनाये जाने और कृषि कानूनों को रद्द करने की विपक्ष की मांगो को लेकर चर्चा की जाएगी। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, मानसून सत्र के दौरान राज्य सभा में हुई घटना को लेकर भी इस बैठक में बातचीत हो सकती है।

सूत्रों की माने तो 2024 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष को एकजुट करने की कोशिशों के तहत यह बैठक अहम् है। माना जा रहा है कि 2024 के लोकसभा चुनाव में विपक्ष के गठजोड़ वाला महागठबंधन बनाने में अब कांग्रेस भी दिलचस्पी दिखा रही है।

अभी हाल ही में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और शिव सेना सांसद संजय राउत के बीच हुई मुलाकात के बाद संजय राउत ने मीडिया से बात करते हुए इस तरह के संकेत दिए थे। इसलिए संभव है कि इस बैठक के ज़रिये कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नब्ज़ टटोलने की कोशिश करें।

ये भी पढ़ें:  देवीलाल की जयंती के बहाने जुटे विपक्ष के नेता, 2024 में बीजेपी को सत्ता से बाहर करने का संकल्प

सूत्रों ने कहा कि यह बैठक कई अहम मुद्दों पर विपक्ष को एकजुट करने के लिए बुलाई गई है। इनमे देश में बढ़ती महंगाई, बेरोज़गारी और गैर बीजेपी शासित राज्यों में वैक्सीन की किल्ल्त व् देशभर में वैक्सीनेशन की धीमी रफ़्तार के मुद्दे पर भी बातचीत हो सकती है।

सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में कांग्रेस की तरफ से सोनिया गांधी के अलावा पूर्व पीएम डा मनमोहन सिंह, मल्लिकार्जुन खड़के के अलावा डीएमके नेता और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन, एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तथा झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मौजूद रहेंगे।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें