पढ़िए: कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पास हुए ये अहम प्रस्ताव

नई दिल्ली। शनिवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के मुख्यालय 24 अकबर रोड पर संपन्न हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में कई अहम प्रस्तावों पर चर्चा हुई। बैठक के बाद कांग्रेस के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल और पार्टी प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कार्यसमिति की बैठक को लेकर मीडिया को जानकारी दी।

केसी वेणुगोपाल ने कहा कि सीडब्लूसी की बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए हैं। इसमें मंहगाई और कीमतों की बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस पूरे देश में जन जागरण अभियान चलाएगी, जोकि 14 नवंबर से 21 नवंबर तक चलेगा। इसके अलावा हर बूथ पर पदयात्रा निकाली जाएगी। इसके अलावा हर राज्य में कंट्रोल रूम स्थापित किए जाएंगे। यह कार्य पीसीबी करेगी।

वेणुगोपाल ने बताया कि कार्यसमिति की बैठक में संगठन के चुनावों को लेकर भी मंथन किया गया है। उन्होंने कहा कि पार्टी 1 नवंबर 2021 से 31 मार्च 2022 तक सदस्यता अभियान चलाएगी। लोग पांच रुपए में कांग्रेस की सदस्यता हासिल कर सकेंगे। इसके अलावा एआईसीसी अध्यक्ष के चुनाव के लिए 21 अगस्त से लेकर 22 सितंबर तक चलेगा।

ये भी पढ़ें:  UP : ग्रामीणों ने बच्चा चोर समझकर बाढ़ देख रहे दंपत्ति को ड्राइवर समेत की पिटाई, पूछताछ में जुटी पुलिस

वहीँ कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि आज हुई कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में हर साथी ने कहा कि सोनिया गांधी में उनका विश्वास है। अगले चुनाव तक सोनिया गांधी पद पर बनी रहेंगी।

सुरजेवाला ने कहा कि नशे को संगठित व्यापारी सरकार की नाक के नीचे घूम रहे हैं। अडानी पोर्ट में 3000 किलो हीरोइन पकड़ी गई थी उससे पहले 25000 किलो हीरोइन वहां से निकल कर बाजार में आ चुकी है। क्या यह सरकार के संरक्षण के बिना हो सकता है? कांग्रेस कार्यसमिति ने देश के युवाओं को नशे की गिरफ्त में धकेलने के षड्यंत्र पर गहन चिंता व्यक्त की है।

सुरजेवाला के मुताबिक, अर्थव्यवस्था जिस प्रकार से तार-तार है और जिस प्रकार से लाखों किसान 3 कृषि विरोधी कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत हैं। उनके साथ सहमति जताते हुए एक बार फिर उन कानूनों को खत्म करने की गहन चर्चा भी की गई।

उन्होंने कहा कि लखीमपुर खीरी का नरसंहार हो या मोदीजी द्वारा देश के गृह राज्यमंत्री को बर्खास्त न करना; यह किसी भी केंद्रीय सरकार के लिए शर्मनाक घटनाएं हैं।

सुरजेवाला ने कहा कि जिस प्रकार से केंद्रीय एजेंसियों का इस्तेमाल भाजपा के खोये हुए जनाधार को दोबारा लौटाने के लिए हो रहा है और चुनी हुई सरकारों के अधिकार और उनकी पुलिस के अधिकार छीनकर केंद्र सरकार उन्हें अपने अंदर ले रही है। इन पर कार्यसमिति ने व्यापक राय बनाकर, इन्हें वापस लेने की संकल्पबद्धता बनाई।

ये भी पढ़ें:  राजस्थान का मामला हल करने के लिए दिल्ली में सोनिया के आवास जुटे कांग्रेस नेता

उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति ने अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं, पिछड़े वर्गों पर लगातार उनके अधिकारों पर जो हमले हो रहे हैं, उस पर कार्यसमिति ने गहन चिंता व्यक्त की।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि जिस प्रकार 70 साल से देश की कमाई संपत्ति को बेचकर मोदी जी अपनी सरकार चलाना चाह रहे हैं; ये अपने आप में देशद्रोह की परिभाषा से कम में नहीं आता। इसको लेकर भी कार्यसमिति ने गहन चिंता व्यक्त की।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से भिन्न-भिन्न संस्थानों पर हमला बोला जा रहा है। उसको लेकर भी कार्यसमिति ने अपने राजनीतिक प्रस्ताव में चर्चा की। आखिर में यह संकल्प लिया कि देश को जगाने का दायित्व, देश के जनमानस की आत्मा को झकझोरने का दायित्व भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का है

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें