पीके ने कैप्टेन के सलाहकार पद से दिया इस्तीफा, क्या कांग्रेस में आने की हो रही तैयारी

नई दिल्ली। चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के प्रमुख सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया है। माना जा रहा है कि प्रशांत किशोर जल्द कांग्रेस में शमिल होने वाले हैं और उन्हें पार्टी में कोई बड़ी ज़िम्मेदारी दी जा सकती है।

पंजाब के सीएम को लिखे अपने पत्र में प्रशांत किशोर ने कहा, “जैसा कि आप जानते हैं, सार्वजनिक जीवन में सक्रिय भूमिका से अस्थायी रूप से ब्रेक लेने के मेरे फैसले के मद्देनजर, मैं आपके प्रधान सलाहकार के रूप में जिम्मेदारियों को संभालने में सक्षम नहीं हूं। चूंकि मुझे अभी अपनी भविष्य की कार्रवाई के बारे में फैसला करना है, इसलिए मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि कृपया मुझे इस जिम्मेदारी से मुक्त करें।”

प्रशांत किशोर हाल ही में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर चुके हैं। इस बैठक के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल भी मौजूद थे। प्रशांत किशोर इससे पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार से भी मुलाक़ात कर चुके हैं।

प्रशांत किशोर ने हाल ही में कहा था कि बीजेपी को परास्त करना नामुमकिन नहीं है लेकिन इसके लिए सभी दलों को एकजुट होना पड़ेगा। माना जा रहा है कि प्रशांत किशोर जल्द ही कांग्रेस में शमिल हो सकते हैं, यही कारण है कि उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह के प्रमुख सलाहकार के पद से इस्तीफा दे दिया है और अब वे जल्द कांग्रेस में कोई बड़ी भूमिका में दिखाई देंगे।

ये भी पढ़ें:  दिल्ली पहुंचे गहलोत, आज सोनिया से करेंगे मुलाकात

हालांकि आधिकारिक तौर पर अभी कांग्रेस पार्टी की तरफ से या प्रशांत किशोर की तरफ से ऐसा कोई बयान नहीं आया है, जिससे यह साफ़ हो सके कि प्रशांत किशोर कांग्रेस में शमिल होने जा रहे हैं। लेकिन पिछले दिनों 2024 के आम चुनाव में विपक्षी दलों को एकजुट करने के मुद्दे पर आये प्रशांत किशोर के बयान और कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात के बाद तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें