पूरे बिहार में रात्रि कर्फ्यू का एलान, सभी शैक्षणिक संस्थाएं 15 मई तक बंद

पटना। बिहार में कोरोना संक्रमण मामलो में हो रही बढ़ोत्तरी को देखते हुए राज्य की नीतीश सरकार ने कई कड़े कदम उठाने का एलान किया है। कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए पूरे बिहार में रात्रि का कर्फ्यू लगाने का एलान किया गया है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस आशय की जानकारी देते हुए कहा कि पूरे बिहार में रात में प्रतिदिन 9 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक रात्रि कर्फ्यू लागू रहेगा। सभी दुकाने, प्रतिष्ठान, फल एवं सब्जी की दुकानें, मंडी, मांस और मछली की दुकानें 6 बजे बंद हो जाएंगी। रेस्टोरेंट में बैठकर खाना प्रतिबंधित रहेगा लेकिन होम डिलीवरी 9 बजे रात तक होगी।

उन्होंने कहा कि राज्य में स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान एवं अन्य शैक्षणिक संस्थान 15 मई तक बंद रहेंगे। इस अवधि में राज्य सरकार के विश्वविद्यालयों द्वारा किसी भी तरह की परीक्षाएं नहीं ली जाएंगी। सभी सिनेमा हॉल , मॉल, क्लब, जिम, पार्क एवं उद्यान को 15 मई तक के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा।

इतना ही नहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के आयोजन पर रोक रहेगी लेकिन यह दफन, दाह संस्कार और पूजा पर लागू नहीं होगा। दफन और दाह संस्कार के लिए लोगों की संख्या घटाकर 25 की गई है। शादी और श्राद्ध में लोगों की संख्या घटाकर 100 की गई है।

ये भी पढ़ें:  मौलाना इलियासी ने संघ प्रमुख की तारीफ़ में पढ़े कसीदे, राष्ट्रपिता कहकर किया संबोधित

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग भी बाहर हैं हम लोगों का अनुरोध है कि जितना जल्दी से जल्दी हो सके लौट आएं। हम लोगों का यह आग्रह है। हम लोगों की तरफ से जो भी सहयोग संभव है, हम करेंगे लेकिन आ जाएं क्योंकि जितना देर करेंगे कठिनाईयां बढेंगी।

नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना के मामले प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं। आज अभी कुछ देर पहले तक की रिपोर्ट है कि आज ही एक दिन में 8,690 नए मामले सामने आए। विमर्श करने के बाद काफी कुछ निर्णय लिया गया है। कुछ इलाकों को कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि खबर आई की RT-PCR रिपोर्ट 3-4 दिन में आ रही है। कहीं-कहीं खबर मिली कि रिपोर्ट एक सप्ताह बाद आई है। इसे जल्दी से प्राप्त किया जाए ताकि समय से इलाज शुरू हो जाए। इसके बारे में बहुत ठोस निर्णय लिया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति हर हाल में समय पर की जाएगी, इस पर बात हुई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा एलान करते हुए कहा कि हमारे जितने भी चिकित्साकर्मी हैं उनको एक महीने का अतिरिक्त वेतन दिया जाएगा।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें