कोरोना के मद्देनज़र, ममता ने की शेष चरणों के चुनाव एक साथ कराने की मांग

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ने को लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट द्वारा दिए गए निर्देशों को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग से मांग की है कि वह शेष चरणों के चुनाव को एक बार में कराये।

ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में 8 चरणों में चुनाव कराये जाने के चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ हमने विरोध जताया था। कोरोना महामारी के बीच चुनावो को इतना लंबा नहीं खींचा जाना चाहिए था।

ममता बनर्जी ने कहा कि देश में बढ़ते कोरोना मामलो को देखते हुए चुनाव आयोग को चाहिए कि वह शेष चरणों के चुनाव को एक साथ कराकर पश्चिम बंगाल में इस महामारी को और बढ़ने से रोकने में मदद करे।

वहीँ पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए चुनाव आयोग ने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में चुनाव आयोग सभी दलों के साथ कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने के लिए बात करेगा।

हालांकि इससे पहले चुनाव आयोग सभी राजनीतिक दलों को पत्र भी लिख चुका है। इस पत्र में चुनाव आयोग ने सभी दलों को चेतावनी दी है कि यदि कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया तो चुनाव आयोग रैलियों और रोड शो पर पाबन्दी लगाने में नहीं झिझकेगा।

ये भी पढ़ें:  PFI : एनआईए का दावा, 'युवाओं को भड़काकर आतंकी समूहों में भर्ती कराने की थी कोशिश', जानिए पूरी सच्चाई

गौरतलब है कि कलकत्ता उच्च न्यायालय ने मंगलवार को निर्देश दिया था कि कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के प्रचार के संबंध में स्वास्थ्य संबंधी सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन होना चाहिए।

मुख्य न्यायाधीश टी बी एन राधाकृष्णन की पीठ ने दो जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए सभी जिलाधिकारियों को आदेश दिया था कि वे निर्वाचन आयोग और मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें