28 सितंबर को कांग्रेस का हाथ थामेंगे कन्हैया कुमार, जिग्नेश मेवाणी सहित कई युवा चेहरे

नई दिल्ली। गुजरात सहित देश के कई राज्यों में अगले वर्ष होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई नेता कन्हैया कुमार और निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी सहित कई युवा चेहरे जल्द ही कांग्रेस में शामिल होंगे।

सूत्रों के कहा कि 28 सितंबर को जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) के नेता कन्हैया कुमार और गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी कांग्रेस में शमिल होंगे।

कन्हैया कुमार तथा जिग्नेश मेवाणी की हाल ही में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मुलाकात के बाद इस बात के कयास लगाए जा रहे थे कि राहुल गांधी ने दोनों नेताओं को कांग्रेस में शामिल होने का निमंत्रण दिया है। हालांकि इस मुलाकात के बाद कन्हैया कुमार दिल्ली में सीपीआई महासचिव डी राजा से भी मिलने पहुंचे थे।

कन्हैया कुमार ने 2019 के लोकसभा चुनाव में सीपीआई के उम्मीदवार के तौर पर बेगूसराय से लोकसभा चुनाव लड़ा था और वे केंद्रीय मंत्री और बीजेपी उम्मीदवार गिरिराज सिंह से चुनाव हार गए थे।

ये भी पढ़ें:  शशि थरूर भी लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, नामांकन फार्म लिया

वहीँ गुजरात में ऊना काण्ड के बाद दलित आंदोलन की अगुवाई से चर्चा में आये जिग्नेश मेवाणी गुजरात की बड़गांव विधानसभा से विधायक हैं। 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने जिग्नेश मेवाणी के खिलाफ बड़गांव सीट पर अपना उम्मीदवार खड़ा नहीं किया था। उनकी सीधी टक्कर बीजेपी से थी और उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार को शिकस्त दी थी।

सूत्रों ने कहा कि कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवाणी के अलावा भी कई अन्य युवा चेहरे कांग्रेस की सूची में है, जो 28 सितंबर को कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। सूत्रों ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा बीजेपी के खिलाफ बदली हुई रणनीति के अंतर्गत पार्टी युवा चेहरों को आगे लाएगी और आने वाले समय में बीजेपी के खिलाफ पहले से कहीं अधिक आक्रामक रुख अपनाएगी।

सूत्रों ने कहा कि राहुल गांधी पहले ही कह चुके हैं हमे डरने वाले लोगों की ज़रूरत नहीं है। कांग्रेस में उन्ही लोगों को आना चाहिए जो दबाव में घुटने न टेकें बल्कि मजबूती से मुकाबला करें।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें