क्या तय हो चुकी है बीजेपी की हार, 10 मार्च से पहले ही रीता बहुगुणा का बेटा साईकिल पर सवार

क्या तय हो चुकी है बीजेपी की हार, 10 मार्च से पहले ही रीता बहुगुणा का बेटा साईकिल पर सवार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सोमवार को सातवें और अंतिम चरण के चुनाव से पहले बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी शनिवार को समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए।

अंतिम चरण के चुनाव के लिए प्रचार का शोर थमने से चंद घंटो पहले मयंक जोशी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने को लेकर कई मतलब निकालने जा रहे हैं। हालांकि मयंक जोशी ने समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद कहा, “मैं आज समाजवादी पार्टी में शामिल हुआ हूं। अखिलेश यादव विकास, महिला सुरक्षा, युवाओं की बात करते हैं। युवावस्था में मैंने सोचा कि ऐसे व्यक्ति के साथ खड़ा होना चाहिए जो प्रोग्रेसिव बात करता हो। मुझे लगता है कि यूपी का भविष्य उनके हाथों में सुरक्षित है।”

इससे पहले मयंक जोशी ने पिछले महीने 22 फरवरी को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। उस समय उन्होंने इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात बताया था।

मयंक जोशी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने को लेकर कई तरह के मायने निकाले जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि मयंक जोशी को इस बात का अंदाजा है कि बीजेपी की सत्ता में वापसी नहीं हो रही और उन्होंने चुनाव परिणाम आने से पहले ही अपनी राजनीति का सुरक्षित ठिकाना तय कर लिया है।

ये भी पढ़ें:  बजट 2023: सीतारमण ने PMAY के लिए ₹79,000 करोड़ के Outlay की घोषणा की, जो पिछले वर्ष की तुलना में 65% अधिक है

बीजेपी में ही रहेंगी रीता बहुगणा जोशी:

वहीँ बेटे मयंक जोशी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद बीजेपी सांसद रीता बहुगुणा जोशी के समाजवादी पार्टी में शामिल होने को लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। दरअसल, रीता बहुगुणा जोशी ने लखनऊ के कैंट विधानसभा सीट से अपने बेटे मयंक जोशी के लिए बीजेपी से टिकट मांगा था, उन्होंने आलाकमान से अपने बेटे को टिकट दिए जाने की पुरजोर सिफारिश भी की थी लेकिन पार्टी ने लखनऊ कैंट विधानसभा सीट से रीता बहुगुणा जोशी के बेटे को टिकट न देकर योगी सरकार में कानून मंत्री ब्रजेश पाठक को टिकट दिया।

समाजवादी पार्टी में शामिल होने के कयासों का खंडन करते हुए रीता बहुगुणा जोशी ने कहा है कि वे बीजेपी में ही रहेंगी। न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक रीता बहुगुणा जोशी के मीडिया प्रभारी अभिषेक शुक्ला के अनुसार वह बीजेपी में बनी रहेंगी और उन्हें राष्ट्रीय नेतृत्व पर भरोसा है।

एक बयान में, उन्होंने कहा कि बीजेपी सांसद वर्तमान में संसदीय समिति की बैठक के लिए त्रिपुरा में हैं, जहां उन्हें समाचार मीडिया के माध्यम से पता चला कि मयंक जोशी समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए हैं। शुक्ला ने आगे कहा कि उन्होंने (रीता बहुगुणा जोशी) इस पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है और कहा कि वह बीजेपी में ही रहेंगी और उन्हें राष्ट्रीय नेतृत्व पर पूरा भरोसा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें

TeamDigital