केजरीवाल ने वैक्सीन की किल्ल्त पर जताई चिंता, दिल्ली के पास कुछ ही दिनों के लिए बची है वैक्सीन

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वैक्सीन की कमी को लेकर चिंता जताई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में हमारे पास अब कुछ दिन की वैक्सीन ​बची है और ये समस्या देशव्यापी है।

केजरीवाल ने कहा कि आज केवल दो कंपनियां वैक्सीन बना रही हैं और दोनों मिलकर महीने में केवल 6-7 करोड़ वैक्सीन बनाती हैं। इस तरह तो देश के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाने में हमें दो साल से ज़्यादा लग जाएंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के केस अब कम हो रहे हैं, आप सबके सहयोग से लॉकडाउन सफल रहा। हमने पिछले दिनों में ऑक्सीजन के बहुत बेड बढ़ाए हैं। अब दिल्ली में ICU और ऑक्सीजन बेड की कमी नहीं है।

उन्होंने कहा कि हम वैक्सीन की रोज़ सवा लाख डोज़ लगा रहे हैं, हम जल्दी रोज 3 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाना शुरू कर देंगे। हमारा लक्ष्य आने वाले तीन महीने में सभी दिल्ली वालों को वैक्सीन लगाना है लेकिन वैक्सीन की कमी की समस्या आ रही है।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में हमारे पास अब कुछ दिन की वैक्सीन ​बची है और ये समस्या देशव्यापी है। आज केवल दो कंपनियां वैक्सीन बना रही हैं और दोनों मिलकर महीने में केवल 6-7 करोड़ वैक्सीन बनाती हैं। इस तरह तो देश के हर व्यक्ति को वैक्सीन लगाने में हमें दो साल से ज़्यादा लग जाएंगे।

ये भी पढ़ें:  Russian School : स्कूल में छह लोगों को मारने के बाद अज्ञात ने खुद को मारी गोली

उन्होंने कहा कि जब तक हर भारतीय को वैक्सीन नहीं लगती ये जंग नहीं जीती जा सकती। मैं आज एक सुझाव देना चाहता हूं। वैक्सीन बनाने का काम केवल दो कंपनियां ना करें, कई कंपनियों को वैक्सीन बनाने में लगाया जाए।

केजरीवाल ने केंद्र को सुझाव दिया कि केंद्र सरकार इन दोनों कंपनियों से वैक्सीन बनाने का फॉर्मूला लेकर उन सभी कंपनियों को दे जो सुरक्षित तरीके से वैक्सीन बना सकती हैं। वैक्सीन का उत्पादन करने वाली कंपनियों के लाभ का एक अंश रॉयल्टी के रूप में उन दोनों कंपनियों को दे सकते हैं जिन्होंने मूल फॉर्मूले की खोज की।

गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना संक्रमित मामलो में बढ़ोत्तरी को देखते हुए लॉकडाउन की अवधि 17 मई सुबह 7 बजे तक बढ़ा दी गई है। वहीँ देश में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध न होने के कारण दिल्ली सहित कई राज्य वैक्सीन की किल्ल्त का सामना कर रहे हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें