पंजाब कांग्रेस में अभी सबकुछ ठीक नहीं, हरीश रावत बोले ‘ठीक करने की कोशिश जारी’

नई दिल्ली। पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह और नव नियुक्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच पैदा टकराव से राज्य कांग्रेस में पैदा हुई रार अभी थमी नहीं है और इसका हल निकालने की कोशिश की जा रही है।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने आज स्वीकार किया कि अभी पंजाब कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं है। हालांकि उन्होंने यह दावा भी किया कि पंजाब में सबकुछ ठीक करने की कोशिश जारी है।

उन्होंने कहा कि मैं आपसे कुछ भी छिपाना नही चाहता। रावत ने कहा कि जो नाराज मंत्री थे वे मुझसे मिलने नहीं इस बात के लिए उनका बहुत-बहुत शुक्रिया अदा करता हूं। वरना मीडिया मेरे दौरे को पूरी तरह उन्हीं से जोड़ देती।

रावत ने कहा कि सिद्धू साहब कोई नाराज होकर दिल्ली नहीं गए थे, बल्कि वो अपने मुद्दे लेकर गए थे। मेरे साथ उनकी संगठन के विस्तार और अन्य मुद्दों को लेकर बातचीत हो चुकी है। रावत ने किसी का नाम लिए बिना कहा कि ये जरूरी नहीं है कि हर आदमी की सोच आपस में मिले।

ये भी पढ़ें:  इलाहाबाद HC ने मुख्‍तार अंसारी को 19 साल पुराने मामले में सुनाई7 साल की सजा

हरीश रावत बोले कि सोच कई मुद्दों पर अलग-अलग हो सकती है। रावत ने साफ कहा कि सोच अलग होने के मतलब ये नहीं है कि कांग्रेस में मनमुटाव है। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह के कैबिनेट में बदलाव को लेकर मेरी कैप्टन अमरिंदर सिंह से कोई बात नहीं हुई है। बेवजह मीडिया इस मुद्दे को उठा रही है।

उन्होंने पंजाब सरकार की सराहना करते हुए कहा कि कुछ काम सरकार ने ऐसे किए जो बहुत अच्छे हैं, जिनकी हम तारीफ नहीं कर पाए उन्होंने कहा कि ये अमरिंदर सिंह सरकार की ही देने है कि वो बरगाड़ी का मामला सीबीआई के चंगुल से बाहर ले आए।

इस बीच खबर है कि पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी और राहुल गांधी से मिलने का वक्त नहीं मिला और उन्हें बैरंग वापस लौटना पड़ा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें