बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा के खिलाफ 17 और एफआईआर दर्ज

मुंबई। कोरोना महामारी के बीच बीजेपी द्वारा निकाली गई जन आशीर्वाद यात्रा में कोविड गाइडलाइन के उल्लंघन को लेकर मुंबई पुलिस ने 17 और एफआईआर दर्ज की हैं। नई एफआईआर को मिलाकर बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा के खिलाफ हुई एफआईआर की संख्या बढ़कर 36 हो गई है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर सरकार और बीजेपी आमने सामने आ गए हैं। महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि कोरोना महामारी के बीच राजनीतिक कार्यक्रमों के आयोजनों में भीड़ जमा होने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री असलम शेख ने कहा था कि बीजेपी को समझना चाहिए कि ये समय राजनीतिक कार्यक्रमों के आयोजन के लिए उपयुक्त नहीं है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना की स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में हैं लेकिन बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा जैसे राजनीतिक कार्यक्रमों के आयोजनों में भीड़ जमा होने से कोरोना मामलो में बढ़ोत्तरी की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। असलम शेख ने कहा कि भाजपा को समझना होगा कि राज्य में कोविड के मामले कम करने हैं। कोविड से बहुत सारे लोग परेशान है।

ये भी पढ़ें:  Rampur : पुलिस को नहीं पता कहां हैं आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला, तलाश जारी

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि भाजपा जन आशीर्वाद यात्रा निकाल रही है, इससे मामले बढेंगे। मैं उनसे निवेदन करता हूं कि वे आंदोलन ऐसे करे कि आंदोलन भी हो जाए और मामले भी ना बढ़े।

वहीँ इससे पहले शिव सेना सांसद संजय राउत ने भी बीजेपी की जन आशीर्वाद यात्रा को लेकर निशाना साधा था। राउत ने बुधवार को कहा कि भारतीय जनता पार्टी की जन आशीर्वाद यात्रा का मतलब तीसरी लहर को निमंत्रण देना है।

शिवसेना सांसद संजय राउत ने मुंबई में मीडिया से बातचीत करते भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि फिलहाल जिस तरह की भीड़ इस यात्रा में दिखाई दे रही है और शक्ति प्रदर्शन हो रहा है। उससे कोरोना की तीसरी लहर का आना तय है। संजय राउत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी महाराष्ट्र के लोगों की मुसीबत बढ़ाने की कोशिश में जुटी है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें