किसान न्याय रैली में प्रियंका गांधी के भाषण की 10 अहम बातें

वाराणसी। रविवार को वाराणसी में कांग्रेस की किसान न्याय रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर चौतरफा हमला बोला।

प्रियंका गांधी ने लखीमपुर खीरी हिंसा, हाथरस की घटना, कानून, महंगाई और बेरोज़गारी सहित कई मुद्दों पर केंद्र की नरेंद्र मोदी और राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर कड़े प्रहार किये।

प्रियंका गांधी ने कहा कि पिछले साल प्रधानमंत्री ने अपने लिए 16 हजार करोड़ के दो हवाई जहाज खरीदे और एयर इंडिया को 18 हजार करोड़ में बेच दिया। देश में केवल दो तरह के लोग सुरक्षित हैं, बीजेपी के सत्ताधारी नेता और उनके खरबपति मित्र। इनके अलावा कोई सुरक्षित नहीं है। उन्होंने कहा कि दलित, अल्पसंख्यक और महिला कोई सुरक्षित नहीं हैं।

तीन कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 10 महीने से अधिक समय से चल रहे किसान आंदोलन का ज़िक्र करते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री दुनिया के कोने-कोने तक घूम सकते हैं, लेकिन अपने किसानों से बात करने के लिए अपने घर से मात्र 10 किलोमीटर दूर दिल्ली के बॉर्डर तक नहीं जा सकते?

ये भी पढ़ें:  राजस्थान : अशोक गहलोत ने सोनिया गांधी को बताया, सचिन पायलट बनते राजस्थान के मुख्यमंत्री तो क्या होता ?

‘किसान न्याय’ रैली में प्रियंका गांधी ने कहा कि किसान 300 दिनों से अधिक समय से विरोध कर रहे हैं, इस दौरान 600 से अधिक किसानों की मौत हो चुकी है। वे विरोध कर रहे हैं क्योंकि वे जानते हैं कि उनकी आय, भूमि और फसल इस सरकार के अरबपति मित्रों के पास जाएगी।

प्रियंका गांधी ने रैली में आये लोगों से पूछा कि पिछले 7 सालो में जब से ये सरकार आई है तब से आपके जीवन में तरक्की आई है या नहीं? क्या विकास आपके द्वार पर आया है या नहीं? जो वचन आपसे किये गए थे वे निभाए गए हैं या नहीं? प्रियंका ने कहा कि इनमे कोई भी एक सवाल अपने मन से पूछ लीजिये और ईमानदारी से उसका जबाव ढूंढिए।

इतना ही नहीं प्रियंका गांधी ने कहा कि यदि इन सवालो का जबाव यही है कि आपके जीवन में कोई तरक्की नहीं हुई तो आप आजाइये मेरे साथ और कंधे से कंधा लगाकर खड़े हो जाइये, लड़िये और बदलिए इस सरकार को। परिवर्तन लाइए और अपने प्रदेश को बदलिए। प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं तब तक नहीं रुकुंगी, जब तक यहां पर परिवर्तन न आये।

प्रियंका गांधी ने कहा कि इस देश के गृह राज्य मंत्री के बेटे ने अपनी गाड़ी के नीचे 6 किसानों को निर्ममता से कुचल दिया और सब परिवार ये कहते हैं कि हमें मुआवज़ा नहीं न्याय चाहिए। लेकिन, हमें न्याय दिलाने वाला इस सरकार में नहीं दिख रहा है।

ये भी पढ़ें:  जोधपुर : भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ स्वदेशी हल्का लड़ाकू हेलीकॉप्टर

प्रियंका गांधी ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि किसानो को बिजली नहीं मिल रही है लेकिन उन्हें लंबे लंबे बिल मिल रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानो को धान और गेंहू का सही दाम नहीं मिलता, यूरिया और खाद बेहद महंगा हो गया है। खेती में काम आने वाले औजारों पर भी जीएसटी लगा दी गई है।

प्रिंयका गांधी ने महंगाई का मुद्दा उठाते हुए कहा कि 100 रुपये का पेट्रोल और 90 रुपये का डीजल, हज़ार रुपये में रसोई का गैस सिलेंडर। प्रियंका ने कहा कि इस सरकार में 23 करोड़ लोग गरीबी रेखा से नीचे चले गए हैं। कोयला खत्म हो रहा है। बेरोज़गारी चरम पर है, जहाँ जहाँ जाओ बेरोज़गार लोग मिलते हैं।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें