येदियुरप्पा, मौर्य की नियुक्ति से भाजपा की नैतिकता की पोल खुली

कांग्रेस ने शनिवार को कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में पार्टी की कमान कथित दागी नेताओं को सौंपने को लेकर भाजपा पर निशाना साधा। कांग्रेस ने कहा कि इससे भाजपा के शुचिता के वादे की पोल खुल गई है।

yeddyurappa

नई दिल्ली । कांग्रेस ने शनिवार को कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में पार्टी की कमान कथित दागी नेताओं को सौंपने को लेकर भाजपा पर निशाना साधा। कांग्रेस ने कहा कि इससे भाजपा के शुचिता के वादे की पोल खुल गई है।

बी.एस. येदियुरप्पा को कर्नाटक और केशव प्रसाद मौर्य को यूपी भाजपा की जिम्मेदारी सौंपी गई है। येदियुरप्पा को भ्रष्टाचार के आरोप के कारण मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़नी पड़ी थी, जबकि केशव मौर्य पर हत्या का आरोप है।

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुचिता की बात करते हैं। लेकिन कथित रूप से दागी लोगों को प्रदेश इकाइयों के प्रमुख के रूप में नियुक्त करते हैं तो इससे चीजें यूं ही स्पष्ट हो जाती हैं। तिवारी ने कहा, यह विचित्र है कि जो लोग स्वच्छ राजनीति की बात करते हैं, उन्होंने यह जानते हुए भी येदियुरप्पा को भाजपा की कर्नाटक इकाई का प्रमुख नियुक्त कर दिया है कि वह बतौर मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल गए थे।

कांग्रेस नेता ने फूलपुर के सांसद केशव प्रसाद मौर्य की ओर इशारा करते हुए कहा, उत्तर प्रदेश में जिस व्यक्ति को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नियुक्त किया गया है, उनके विरूद्ध हत्या समेत विभिन्न अपराधों के दस मामले हैं। स्वच्छ राजनीति का यह कैसा प्रतिबिम्ब है।

ये भी पढ़ें:  भारत जोड़ो यात्रा में पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे: फ़र्ज़ी वीडियो शेयर करने वाले BJP नेता के खिलाफ FIR

कांग्रेस को बोलने का हक नहीं: भाजपा ने कांग्रेस के दागी नेता के आरोप पर पलटवार किया है। भाजपा सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा, जिस पार्टी का नेतृत्व कथित फर्जीवाड़ा को लेकर जमानत पर है और 10 वर्षों तक भ्रष्ट शासन चलाया उसे भ्रष्टाचार पर बात करने का नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि अदालत ने येदियुरप्पा को क्लीनचिट दे दी है। कांग्रेस निराधार आरोप लगाने का प्रयास कर रही है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें