एक्सक्लूसिव : पोलिटिकल सांइस’ को ‘प्रॉडिकल साइंस’ कहने वाली बिहार की टॉपर रूबी राय गिरफ्तार

Rubi-rai

पटना । बिहार इंटर परीक्षा में कला संवर्ग की विवादित टॉपर रूबी राय को शनिवार दिनाक 25 जून को गिरफ्तार कर लिया गया। रूबी राय ने पत्रकारों को दिए इंटरव्यू में ‘पोलिटिकल सांइस’ यानी राजनीति विज्ञान को ‘प्रॉडिकल साइंस’ बताया था और कहा था कि इस विषय में खाना बनाना सिखाया जाता है।

पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि बिहार स्कूल परीक्षा बोर्ड (बीएसईबी) की ओर से फिर से ली गई परीक्षा देकर निकलते वक्त रूबी को विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने गिरफ्तार किया।

पटना की एक अदालत ने शनिवार दिनाक 25 जून को परीक्षा रैकेट के सिलसिले में रूबी सहित इंटर परीक्षा के चार टॉपरों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था। रूबी के अलावा विज्ञान संवर्ग के टॉपर सौरभ श्रेष्ठ, तीसरे टॉपर राहुल कुमार और बिशुन रॉय कॉलेज के प्रधानाचार्य बच्चा राय की बेटी शालिनी राय के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया।

इस साल इंटर कला संवर्ग में टॉपर करार दिए जाने के बाद एक टीवी इंटरव्यू में रूबी ने सवालों के जवाब कुछ इस तरह दिए थे जिससे राज्य में टॉपर घोटाले से पर्दा उठ सका।

rubeerai

तुलसीदास के बारे में कुछ लिखो तो रूबी ने कॉपी में लिखा, ‘तुलसी दास प्रणाम’ :

वैशाली के बिशुन रॉय कॉलेज की छात्रा रूबी एक लिखित परीक्षा के साथ-साथ इंटरव्यू देने के लिए शनिवार (25 जून) को बिहार बोर्ड (बीएसईबी के दफ्तर पहुंची। दोपहर करीब पौने तीन बजे वह जांच टीम के सामने पेश हुईं। पैनल ने बतौर टॉपर रूबी की योग्‍यता जांचने के लिए इंटरव्‍यू शुरू किया तो वह एक भी सवाल का सही जवाब नहीं दे सकी। हर सवाल का एक ही जवाब दिया कि ‘दो साल पहले पढ़ी थी, अब याद नहीं है।’ पैनल ने रूबी का रिटेन टेस्‍ट भी लिया मगर वह कोई सही जवाब देने में नाकाम रही। पैनल ने कहा कि तुलसीदास के बारे में कुछ लिखो तो रूबी ने कॉपी में लिखा, ‘तुलसी दास प्रणाम!’

ये भी पढ़ें:  SBI, LIC पर अडानी संकट के नतीजों पर सरकार पर हमले के लिए विपक्ष एकजुट

टीम ने रूबी से कहा कि घबराओ मन, पानी पी लो या नाश्‍ता कर लो। मगर रूबी ने ढाई घंटे तक ना तो पानी पिया, ना ही कुछ खाया। उसकी भाषा किसी गांव की आम सी लड़की जैसी थी। जब बाहर मीडिया होने की वजह से रूबी को पुलिस ने गमछा दिया तो उसने मना कर दिया। बोली- ‘मुझे किसी का डर नहीं है। मैं गांव में भी गमछा नहीं ओढ़ती हूं। अगर गमछा ही लगाना होता तो आज बोर्ड आॅफिस नहीं आती। मैं बच्‍चा राय थोड़े ही हूं कि गमछा ओढ़ाए जा रहे हैं। मैं ऐसे ही मीडिया के सामने जाऊंगी।’ पुलिस के डांटने पर रूबी ने गमछे से चेहरा ढंका।

इंटर आर्ट्स की पूर्व टॉपर रूबी राय ने रविवार को बेउर जेल जाने से पहले एसआईटी को बताया कि इंटर का फॉर्म पापा ने विशुन राय कॉलेज से भरवाया था। परीक्षा से पहले पापा ने कहा था कि रौल नंबर व हस्ताक्षर ठीक से करना। आगे हम देख लेंगे। परीक्षा के बाद पूछा था कि कौन सा डिविजन चाहिए। इस पर उसने कहा था कि ज्यादा कुछ नहीं सेकेंड डिविजन भी आ जाए तो बहुत है। परीक्षा ठीक नहीं गई है। जो समझ आया लिख दी थी।

छात्रा ने यह भी बताया कि कॉलेज के प्राचार्य अमित कुमार उर्फ बच्चा राय रिश्ते में उसके चाचा लगते हैं। पापा के साथ वह चाचा से मिलने उनके घर और कॉलेज भी गई थी। पैसे के लेन-देन के बारे में उसे कोई जानकारी नहीं है। उसने बताया कि वह जीआर इंटर कॉलेज में परीक्षा देने गई थी। परीक्षा में वह खुद बैठी थी। उत्तरपुस्तिका में उसने खुद ही रौल नंबर भरा और उपस्थित पंजिका पर हस्ताक्षर भी किया है। पुलिस के पूछने पर उसने बताया कि परीक्षा में कौन-कौन से सवाल पूछे गए थे, तो उसने बताया कि अंकल परीक्षा दिए बहुत दिन हो गया है। याद नहीं कौन-कौन से सवाल पूछे गए थे।

ये भी पढ़ें:  ममता बनर्जी ने केंद्रीय बजट को गैर-भविष्यवादी, अवसरवादी बताया

कॉलेज में इंट्री से पहले दी सीख
रूबी राय ने बताया कि परीक्षा केन्द्र पर छोड़ने पापा खुद ही गए थे। इंट्री लेने से पहले पापा ने कहा था कि जो समझ में आए लिख देना, बाकी हम देख लेंगे।

कितने दिन में जेल से छूटेंगे
गांधी मैदान सिविल कोर्ट में पेशी के बाद रूबी को बेउर जेल भेजा गया। जेल जाने से पहले उसने पुलिस वालों से पूछा की अंकल जेल से कितने दिन में छूट जाऊंगी। पुलिस वालों ने कहा, जल्दी। इतना सुनते ही वह हंसते हुए पुलिस की गाड़ी में बैठ कर बेउर जेल के लिए रवाना हो गई।

इस साल इंटर कला संवर्ग में टॉपर करार दिए जाने के बाद एक टीवी इंटरव्यू में रूबी ने सवालों के जवाब कुछ इस तरह दिए थे जिससे राज्य में टॉपर घोटाले से पर्दा उठ सका। रूबी राय ने इंटरव्यू में ‘पोलिटिकल सांइस’ यानी राजनीति विज्ञान को ‘प्रॉडिकल साइंस’ उच्चारित किया था और कहा था कि इस विषय में खाना बनाना सिखाया जाता है।

पटना की एक अदालत ने 25 जून को परीक्षा रैकेट के सिलसिले में रूबी सहित इंटर परीक्षा के चार टॉपरों के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया था। जिसके बाद रूबी को गिरफ्तार कर लिया गया था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें

TeamDigital