‘इंशाअल्लाह’ कहने पर मुस्लिम छात्र को अमेरिकी विमान से उतारा

‘इंशाअल्लाह’ कहने पर मुस्लिम छात्र को अमेरिकी विमान से उतारा

southwest

लॉस एंजिल्स। साउथ वेस्टर्न एयरलाइंस की एक फ्लाइट ने एक शख्स को अरबी भाषा में बोलने पर प्लेन से नीचे उतार दिया। दरअसल यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में पढ़ने वाले इरानी मूल के खैरुद्दीन मखजूमी ने 6 अप्रैल को लॉस एंजिल्स एयरपोर्ट से ऑकलैंड जाने के लिए फ्लाइट ली।

इसी बीच उसने अपने अंकल को बगदाद में फोन कर बताया कि उसने एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया था जिसमें संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून भी उपस्थित थे और उसने मून से इस्लामिक स्टेट को लेकर सवाल भी पूछे।

इसके बाद खैरुद्दीन ने अपने अंकल को ये भी बताया कि सेमिनार के बाद उन्हें डिनर में कराया गया जिसमें लाजवाब चिकन था। खैरुद्दीन ने बातचीत के बाद अपने अंकल को इंशाअल्लाह कहा जिसका मतलब होता है भगवान करे। इसी बीच खैरुद्दीन के बगल में बैठी महिला ने पायलट को जाकर सारी बात बताई और कहा कि उसे खैरुद्दीन की बात कुछ संदिग्ध लग रही है। उसने कहा कि खैरुद्दीन अरबी में भी कुछ बोल रहा था जिसके बाद खैरुद्दीन को फ्लाइट से नीचे उतार दिया गया।

खैरुद्दीन के मुताबिक साउथ वैस्टर्न एयरलाइंस का एक कर्मचारी उसके पास आया और उसने अंग्रेजी में पूछा कि उसने अरबी में बात क्यों कि, इसपर खैरुद्दीन ने कहा कि क्या इस देश को इस्लामोफोबिया हो गया है जिसपर उस कर्मचारी ने उसके साथ बहुत बदतमीजी की और उसे प्लेन से नीचे उतार दिया।

ये भी पढ़ें:  राखी सावंत के पति आदिल खान दुर्रानी ने चेतावनी किया पलटवार: मैं सुशांत सिंह राजपूत नहीं बनना चाहता

द न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के अनुसार, साउथ वेस्टर्न एयरलाइंस में इस तरह की ये चौथी घटना हुई है। पिछले हफ्ते भी शिकागो की फ्लाइट से इसी तरह एक मुस्लिम यात्री को उतार दिया गया था।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें

TeamDigital