ट्विटर ने संघ प्रमुख मोहन भागवत के एकाउंट से ब्लू टिक हटाया

नई दिल्ली। ट्विटर ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत के ट्विटर एकाउंट से ब्लू टिक हटाकर उसे अन वेरिफाइड की केटेगरी में कर दिया है। इतना ही नहीं ट्विटर ने आज बड़ा एक्शन लेते हुए उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के ट्विटर एकाउंट से भी ब्लू टिक हटा दिया था लेकिन कुछ देर बाद उपराष्ट्रपति के एकाउंट पर ब्लू टिक वापस लगा दिया गया।

संघ प्रमुख मोहन भागवत के ट्विटर एकाउंट को लेकर कहा जा रहा है कि भागवत का ट्विटर एकाउंट क्रिएट होने के बाद से उनके एकाउंट से एक भी ट्वीट नहीं किया गया है। इसलिए ट्विटर ने इस एकाउंट को उपयोग में नहीं मानकर (इनेक्टिव)ब्लू टिक हटाने की कार्रवाही की है।

वहीं वेंकैया नायडू के ट्विटर अकाउंट से ब्लू टिक हटाने के बाद ट्विटर की ओर से यही सफाई दी गई थी कि वेंकैया नायडू के ट्विटर हैंडल को पिछले छह महीने में लॉग इन नहीं किया गया था। ट्विटर के नियमो के मुताबिक वेरिफाइड एकाउंट होल्डर को 6 महीने में कम से कम एक बार अपने एकाउंट में लॉगिन करना होता है।

ट्विटर इससे पहले भी कई संघ नेताओं के एकाउंट से ब्लू टिक हटा चुका है। इससे पहले आरएसएस नेता सुरेश सोनी, सुरेश जोशी और अरुण कुमार के निजी ट्विटर हैंडल से ब्लू टिक हटा दिया था।

ये भी पढ़ें:  रेलवे का क्रूर मजाक: यात्री को आवंटित किया गया सीट नंबर कोच में था ही नहीं

ट्विटर ने नहीं मानी गाइडलाइन, सरकार ने भेजा अंतिम नोटिस:

वहीँ ट्विटर ने अभी तक नए आईटी नियमो को स्वीकार नहीं किया है। अब भारत सरकार ने नए आईटी नियमों के अनुपालन के लिए ट्विटर को फाइनल नोटिस दिया है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें