पप्पू यादव पर रूडी का पलटवार: अपराधी मंदिर में बैठ जाये तो संत नहीं हो जाता

नई दिल्ली। एम्बुलेंस काण्ड में आज भारतीय जनता पार्टी के सांसद राजीव प्रताप रूडी ने आज मीडिया के समक्ष अपना पक्ष रखा। इतना ही नहीं रूडी ने पलटवार करते हुए पप्पू यादव पर ही कई आरोप लगा दिए।

राजीव प्रताप रूडी ने अपने राजनैतिक कैरियर का हवाला देते हुए कहा कि उन पर कभी विवाद में शामिल होने का आरोप नहीं लगा है। वे बिहार से विधानसभा, लोकसभा और राज्य सभा के सदस्य रहे हैं।

प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि अपराधी अगर किसी मंदिर में बैठ जाए तो संत नहीं हो जाता। हमारे एक मित्र (पप्पू यादव) का एक एफिडेविट था उसमें उन्होंने 32 आपराधिक मुकदमों को स्वयं स्वीकारा है। कोई धारा बची नहीं है।

उन्होंने पप्पू यादव का नाम लिए बिना कहा कि “कहा गया ये एंबुलेंस मेरे घर में लगा है। मैं बताना चाहता हूं कि पटना जाने के बाद ये मेरा घर है और मैं यहीं रहता हूं। यह बहुत पुराना घर है और यहां कहीं एबुलेंस नहीं है। जहां एंबुलेंस खड़े थे वो बहुत आधुनिक सामुदायिक केंद्र है।”

रूडी ने कहा कि यहां कहीं चारदीवारी नहीं है। ये सरकार के नाम से पंजीकृत जमीन है। मैं पिछले 10 वर्षों से एंबुलेंस का काम कर रहा हूं। यह पूरी तरह सरकारी है। मैं समन्वय करता हूं, ताकि अच्छी तरह चले।

ये भी पढ़ें:  सुप्रीमकोर्ट ने चुनाव आयुक्त अरुण गोयल की नियुक्ति से संबंधित फ़ाइल तलब की

गौरतलब है कि हाल ही में जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के पैतृक गाँव में दो दर्जन से अधिक एम्बुलेंस छिपाकर खड़े किये जाने का भांडा फोड़ किया था।

पप्पू यादव के खुलासे के बाद बीजेपी सांसद ने कहा था कि ड्राइवर न मिलने के कारण ये एम्बुलेंस खड़ी हैं। हालांकि इसके बाद पप्पू यादव ने एक और वीडियो जारी किया था। इस वीडियो में बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के नाम वाली एम्बुलेंस में बालू की ढुलाई की जा रही थी।

पप्पू यादव को 32 साल पुराने अपहरण के एक मामले में फ़िलहाल न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया है। तबियत खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनका इलाज चल रहा है।

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें