महाराजा चार्ल्स ने धार्मिक विविधता का सरंक्षण करने के लिए ‘अतिरिक्त कर्तव्य’ का संकल्प लिया

लंदन : ब्रिटेन के नए महाराजा चार्ल्स तृतीय ने ब्रिटेन के नए शासक के तौर पर देश की धार्मिक विविधता और राष्ट्रमंडल के विभिन्न समुदाय की संप्रभुता की रक्षा करने के ‘अतिरिक्त कर्तव्य’ का संकल्प लिया।.

चार्ल्स ने बकिंघम पैलेस के बाउ रूम में शुक्रवार शाम को विभिन्न धर्मों एवं संप्रदायों के नेताओं के समूह को संबोधित करते हुए कहा कि उनका हमेशा से विचार रहा है कि ब्रिटेन ‘‘विभिन्न समुदायों का समुदाय’’ है। दिवंगत महारानी एलिबेथ द्वितीय के ताबूत को वेस्टमिंस्टर हॉल तक अंतिम यात्रा से पहले इसी कक्ष में रखा गया था।.

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें
ये भी पढ़ें:  Russian School : स्कूल में छह लोगों को मारने के बाद अज्ञात ने खुद को मारी गोली
सत्य को ज़िंदा रखने की इस मुहिम में आपका सहयोग बेहद ज़रूरी है। आपसे मिली सहयोग राशि हमारे लिए संजीवनी का कार्य करेगी और हमे इस मार्ग पर निरंतर चलने के लिए प्रेरित करेगी। याद रखिये ! सत्य विचलित हो सकता है पराजित नहीं।
ताज़ा हिंदी समाचार और उनसे जुड़े अपडेट हासिल करने के लिए फ्री मोबाइल एप डाउनलोड करें अथवा हमें फेसबुक, ट्विटर या गूगल पर फॉलो करें