झारखंड : 10 अक्टूबर से ट्रेनिंग लेंगे चार जगहों पर 1200 होमगार्ड, ऐसा है शेड्यूल

राज्य के विभिन्न जिलों के 1200 महिला-पुरुष होमगार्ड जवानों का प्रशिक्षण चार ट्रेनिंग सेंटरों पर होगा. यह प्रशिक्षण 10 अक्तूबर से छह नवंबर तक चलेगा. इस संबंध में होमगार्ड मुख्यालय से संबंधित अधिकारियों को पत्र भेजा गया है. 13 जिले से 202 पुरुष व 198 महिला होमगार्ड हैं

Ranchi : राज्य के विभिन्न जिलों के 1200 महिला-पुरुष होमगार्ड जवानों का प्रशिक्षण चार ट्रेनिंग सेंटरों पर होगा. यह प्रशिक्षण 10 अक्तूबर से छह नवंबर तक चलेगा. रांची, लातेहार, गुमला, रामगढ़, जमशेदपुर, चाईबासा, बोकारो, देवघर, दुमका, साहिबगंज, गोड्डा, पाकुड़ व जामताड़ा के 202 पुरुष व 198 महिला होमगार्ड की ट्रेनिंग धुर्वा स्थित केंद्रीय प्रशिक्षण संस्थान में होगी. खूंटी, गढ़वा, पलामू, लातेहार, जमशेदपुर, चाईबासा, सरायकेला, गिरिडीह व साहिबगंज के 400 पुरुष होमगार्ड का ट्रेनिंग क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र हजारीबाग में होगी. इसी तरह रांची, गुमला, सिमडेगा, लोहरदगा, हजारीबाग, रामगढ़,चतरा, कोडरमा, धनबाद व बोकारो के 400 पुरुष होमगार्ड की ट्रेनिंग दुमका में होगी. इस संबंध में होमगार्ड मुख्यालय से संबंधित अधिकारियों को पत्र भेजा गया है.

सीसीएल ने मनाया एनसीडीसी स्थापना दिवस

सीसीएल में पहली बार नेशनल कोल डेवलपमेंट काॅरपोरेशन (एनसीडीसी) दिवस मनाया गया. मौके पर कई पूर्व सीएमडी, निदेशक व अन्य अधिकारी और कर्मचारियों को सम्मानित किया गया. कोल इंडिया के चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने वर्चुअल भाषण में कहा कि कोल इंडिया आनेवाले समय में और बेहतर प्रदर्शन करेगी. मौके पर कोल इंडिया के पूर्व चेयरमैन डॉ एमपी नारायणन, पीके सेनगुप्‍ता, एनसी झा, एके झा, गोपाल सिंह, इसीएल के पूर्व सीएमडी एसएन सिंह, डब्ल्यूसीएल के पूर्व सीएमडी आरडी राय, सीसीएल के पूर्व एसके वर्मा, बी अकला, आरपी रिटोलिया को सम्मानित किया गया. वहीं, कंपनी के सीएमडी पीएम प्रसाद ने उनके योगदान की सराहना की. कार्यक्रम में रमेंद्र कुमार, राम बाबू प्रसाद, एसके गोमास्‍ता, हर्ष नाथ मिश्र, पवन कुमार मिश्रा, एसके सिन्‍हा भी मौजूद रहे. मौके पर गार्गी मलकानी ने सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किया.

ये भी पढ़ें:  राजस्थान में भारत जोड़ो यात्रा के प्रवेश से पहले गहलोत ने फिर दिखाए तेवर, पायलट को बताया गद्दार

रिटायर्ड प्रशासनिक अफसरों का बनेगा आइ कार्ड

राज्य सरकार झारखंड कैडर के सेवानिवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा और झारखंड प्रशासनिक सेवा के अफसरों का पहचान पत्र बनायेगी. कार्मिक, प्रशासनिक, सुधार तथा राजभाषा विभाग ने इसके लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू की है. इसे लेकर सेवानिवृत्त अफसरों से कई जानकारियां मांगी गयी हैं. उनकी सेवा से संबंधित पूरी जानकारी हासिल करने के बाद प्रमाण पत्र तैयार कराया जायेगा. अफसरों के नाम, बैच संख्या, पत्राचार का पता, ब्लड ग्रुप, सेवानिवृत्ति की तिथि, पीपीओ संख्या, रंगीन पासपोर्ट फोटो और मोबाइल नंबर मांगा गया है. रिटायर्ड अफसरों से कार्मिक विभाग को जानकारी उपलब्ध कराने को कहा गया है. इसके लिए dopjharkhand@gmail.com पर भी जानकारी उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गयी है

अपनी राय कमेंट बॉक्स में दें